कोविड-19 टीकाकरण महाअभियान ग्वालियर में रघुवीर को लगा पहला मंगल टीका जिले में 6 स्थानों से महा टीकाकरण अभियान शुरू

0
43

ग्वालियर 16 जनवरी 2021/ जया आरोग्य अस्पताल समूह (जेएएच) के सफाई कर्मी एवं असल कोरोना वॉरियर्स श्री रघुवीर बाल्मीकि को जिले का पहला मंगल टीका लगा। शनिवार की मंगल वेला में एएनएम श्रीमती गीता कबीर ने जेएएच परिसर में बने कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र में जैसे ही रघुवीर की बाँह पर कोरोना टीका लगाया, वैसे ही सम्पूर्ण जेएएच परिसर हर्षमय सुखद अहसास से सराबोर हो गया। रघुवीर द्वारा टीके के रूप में कोविड-19 रक्षा कवच पहनते ही ग्वालियर जिले में भी कोरोना के खिलाफ दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की विधिवत शुरूआत हो गई।
टीका लगने से पहले रघुवीर के रक्तचाप व ऑक्सीजन लेवल तथा पहचान दस्तावेजों की जाँच कर ऑन लाइन जरूरी जानकारी फीड की गई। इसी तरह टीका लगने के बाद विशेष कमरे में डॉक्टर्स की निगरानी में बिठाकर आधा घंटे बाद फिर से रक्तचाप इत्यादि की जाँच की गईं। सभी जाँच सही पाए जाने पर रघुवीर प्रसन्नचित होकर टीकाकरण केन्द्र से बाहर निकले।
ग्वालियर-चंबल अंचल के सबसे बड़े अस्पताल जेएएच में कोविड-19 वेक्सीनेशन के शुभारंभ अवसर के सुखद पलों के साक्षी बनने जिला पंचायत की प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव व विधायक श्री सतीश सिकरवार सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, जी आर मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ एस एन अयंगर,जेएएच के अधीक्षक डॉ आर एस धाकड़ व एडीएम श्री आशीष तिवारी भी पहुँचे थे।
कन्या पूजन के साथ हुई अभियान की शुरूआत
कोरोना वेक्सीनेशन की शुरुआत से पहले कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह एवं जेएएच के अधीक्षक डॉ आर के एस धाकड़ ने ढोल-धमाकों और मंगल धुन के बीच कन्या पूजन किया। श्री रघुवीर बाल्मीक की बिटिया कु. विशाखा का रोली-चंदन की टीका व अक्षत-पुष्प के साथ कन्यापूजन किया गया।

डीन, जेएएच अधीक्षक व अन्य चिकित्सकों के भी लगे टीके
जेएएच के कोरोना टीकाकरण केन्द्र में सबसे पहले श्री रघुवीर बाल्मीक को टीका लगा। इसके बाद जीआर मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ एस एन अयंगर, जेएएच के अधीक्षक डॉ आर के एस धाकड़, डॉ देवेन्द्र कुशवाह, डॉ प्रवेश मंगल व डॉ प्रवेश भदौरिया ने टीके लगवाए। इसके बाद पूर्व से पंजीकृत अन्य चिकित्सकीय स्टाफ का टीकाकरण किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिले में पहले सप्ताह में लगभग 1600 स्वास्थ्य कर्मियों को ऑनलाईन सूचना के जरिए टीकाकरण के लिये बुलावा भेजा गया है।
यहाँ भी लगे शनिवार को मंगल टीके
दुनिया के सबसे बड़े कोरोना टीकाकरण अभियान के शुभारंभ के लिये जिले में 6 टीकाकरण केन्द्र बनाए गए थे। ग्वालियर में जेएएच के अलावा जिला चिकित्सालय मुरार, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डबरा व भितरवार, थल सेना अस्पताल और वायुसेना के अस्पताल में बनाये गए कोरोना टीकाकरण केन्द्र में भी शनिवार को मंगल टीके लगाकर लोगों को कोविड से बचाव के लिए सुरक्षा कवच पहनाया गया। जिला चिकित्सालय मुरार में डॉ. विपिन गोस्वामी, भितरवार में स्टाफ नर्स श्रीमती नेहा द्विवेदी एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र डबरा में ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर श्री राकेश गुप्ता को पहला टीका लगाया गया।
अभियान की शुरूआत से पहले सभी ने सुना प्रधानमंत्री का संबोधन
कोरोना टीकाकरण अभियान प्रारंभ होने के पहले सभी ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का संबोधन सुना। जेएएच परिसर में चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने भी इस प्रसारण को सुना।
टीकाकरण के लिये पहले तय है प्राथमिकता क्रम
कोरोना टीकाकरण के लिए पहले से प्राथमिकता क्रम निर्धारित किया गया है। प्रथम चरण में कोरोना वॉरियर्स को टीका लगाया जाएगा जिसमें मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ भी शामिल हैं। इसमें सरकारी और निजी अस्पतालों के सेवाभावी चिकित्सक भी टीका लगवाएंगे। अगले क्रम में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं को टीका लगेगा जिनमें राजस्वकर्मी, पुलिसकर्मी, नगरीय निकायों के कर्मचारी आदि शामिल हैं। पचास वर्ष की आयु से अधिक के नागरिकों तथा ऐसे नागरिकों जो पचास वर्ष से कम आयु के हैं, परंतु एकाधिक स्वास्थ्य समस्या से ग्रस्त हैं, उनका टीकाकरण किया जाएगा। यह पूरी तरह टीका सुरक्षित है। पहला टीका लगने के 28 दिन बाद दोबारा टीका लगेगा। इसके पश्चात 14 दिन में एंटीबॉडी विकसित होगी। टीका लगने के 30 मिनट पश्चात तक आब्जर्वेशन किया जा रहा है। टीका लगवाने वाले व्यक्ति को कोई ए ई एफ आई लक्षण तो नहीं है। ऐसा होने पर प्रबंधन की व्यवस्था की गई है।
क्रमांक/154/21

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here