15 फरवरी से शुरू होगा और 15 अप्रैल को खत्म होगा ग्वालियर का व्यापार मेला.. एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा की अध्यक्षता में मेला प्राधिकरण बोर्ड की बैठक में लिया गया निर्णय..

0
199

श्रीमंत माधवराव सिंधिया ग्वालियर व्यापार मेला इस बार भी पूर्ण भव्यता के साथ आयोजित होगा। मेला 15 फरवरी से 15 अप्रैल 2021 तक आयोजित किया जायेगा। मेले का शुभारंभ 15 फरवरी को किया जायेगा। मेले को पूर्ण भव्यता के साथ एक मार्च से आयोजित करने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं। प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा की अध्यक्षता में संचालक मण्डल की 42वीं बैठक में यह निर्णय लिया गया है।
व्यापार मेला प्राधिकरण के सभाकक्ष में मंगलवार को आयोजित संचालक मण्डल की बैठक में मेले के आयोजन के संबंध में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। बैठक में जिला पंचायत की प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव, ग्वालियर पूर्व के विधायक डॉ. सतीश सिकरवार, ग्वालियर संभाग के आयुक्त श्री आशीष सक्सेना, आईजी ग्वालियर रेंज श्री अविनाश शर्मा, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त श्री शिवम वर्मा, अपर कलेक्टर श्री आशीष तिवारी, जीएम डीआईसी श्री अरविंद बोहरे, मेला सचिव श्री निरंजनलाल श्रीवास्तव सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा है कि ग्वालियर का व्यापार मेला बहुत ही ऐतिहासिक मेला है। इस मेले को इस वर्ष भी पूर्ण भव्यता और गरिमा के साथ आयोजित किया जाए। मेले में आने वाले व्यापारियों को हर प्रकार की सुविधायें उपलब्ध कराई जाएं। इसके साथ ही प्रदेशभर से आने वाले सैलानियों के लिये भी मेले में हर प्रकार की सुविधायें हों, यह सुनिश्चित किया जाए। मंत्री श्री सखलेचा ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा ग्वालियर व्यापार मेले में वाहनों के पंजीयन शुल्क में छूट देने की घोषणा की है। मेला प्रांगण में ही आरटीओ ऑफिस स्थापित कर मेले में क्रय किए जाने वाले सभी वाहनों का पंजीयन सुनिश्चित किया जाए।
मंत्री श्री सखलेचा ने यह भी कहा कि मेला प्राधिकरण द्वारा मेले में आयोजित किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम भी भव्यता से आयोजित किए जाएं और इनमें प्रस्तुत किए जाने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम गरिमामय हों, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि मेले के सांस्कृतिक कार्यक्रमों, प्रचार-प्रसार के लिये एक ईवेंट कंपनी को भी रखा जाए। इसके लिये प्राधिकरण तत्परता से कार्रवाई सुनिश्चित करे। बैठक में हर वर्ष मेले में आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय पशु एवं किसान मेले के आयोजन के संबंध में निर्णय लिया गया कि प्राधिकरण इसका आयोजन भी अवश्य करे। इसके लिये स्थानीय स्तर पर निर्णय लेकर उचित समय पर इसका आयोजन हो, यह सुनिश्चित किया जाए। मेले में आयोजित होने वाले दंगल को भी इस बार आयोजित करने का निर्णय लिया गया।
मंत्री श्री सखलेचा ने बैठक में यह भी निर्देश दिए हैं कि ग्वालियर व्यापार मेला प्राधिकरण अपनी आय को बढ़ाने के लिये भी विशेष प्रयास करे। उन्होंने कहा कि वर्ष में कम से कम 8 माह इस मेला प्रांगण में विभिन्न प्रकार के मेले आयोजित हों, इसकी भी रूपरेखा तैयार की जाए। मंत्री श्री सखलेचा ने बैठक में निर्देश दिए हैं कि मेला प्राधिकरण द्वारा जो मैरिज गार्डन किराए पर दिए गए हैं उन पर जो राशि बकाया है उनकी वसूली की कार्रवाई भी प्रभावी रूप से की जाए।
बैठक में मेले की व्यवस्थाओं के संबंध में जो भी तैयारी की जाना है उसे समय-सीमा में किए जाने के निर्देश दिए गए। मंत्री श्री सखलेचा ने संभागीय आयुक्त एवं कलेक्टर से आग्रह किया कि मेले के आयोजन के लिये जो भी तैयारियां की जाना हैं, उसमें जिला प्रशासन अपनी अग्रणी भूमिका का निर्वहन करे।
संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना ने बैठक में बताया कि मेले के आयोजन में जो भी तैयारी की जाना है वह समय-सीमा में हो यह सुनिश्चित किया जायेगा। ग्वालियर का मेला पूर्ण गरिमा के साथ भव्यता से आयोजित हो यह सुनिश्चित किया जाएगा।
कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार ग्वालियर का मेला हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी पूरी गरिमा के साथ आयोजित होगा। कोविड गाइडलाइन का पालन मेले में हो यह भी सुनिश्चित किया जायेगा।
मेला सचिव श्री निरंजनलाल श्रीवास्तव ने मेले की आय-व्यय के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here